पाकिस्तान के चीफ जस्टिस ने कहा, भारतीय कार्यक्रम हमारी संस्कृति को पहुंचाते हैं नुकसान

भारतीय कार्यक्रम हमारी संस्कृति को पहुंचाते हैं नुकसान
भारतीय कार्यक्रम हमारी संस्कृति को पहुंचाते हैं नुकसान

सौम्या केसरवानी | Navpravah.com

पाकिस्तान के चीफ जस्टिस साकिब निसार ने आज कहा कि, सुप्रीम कोर्ट ने पाकिस्तानी टीवी अपने चैनलों पर भारतीय कार्यक्रम दिखाने की अनुमति नहीं देगा क्योंकि यह यह कार्यक्रम हमारी संस्कृति को नुकसान पहुंचाते हैं।

“डॉन” की खबर के अनुसार चीफ जस्टिस निसार ने पाकिस्तान के टीवी चैनलों पर भारतीय कार्यक्रमों के प्रसारण पर पाबंदी के हाईकोर्ट के फैसले के खिलाफ पाकिस्तान इलेक्ट्रानिक मीडिया नियामक प्राधिकरण की अपील पर सुनवाई करते वक्त ये टिप्पणियां कीं थी।

इस पर, प्रधान न्यायाधीश ने कहा, हम (पाकिस्तानी) चैनलों पर भारतीय कार्यक्रमों के प्रसारण की अनुमति नहीं देंगे, प्राधिकरण के वकील ने प्रधान न्यायाधीश से कहा कि, फिल्माजिया कोई समाचार चैनल नहीं बल्कि मनोरंजन चैनल है, यह कोई दुष्प्रचार नहीं करता है।

इससे पहले 2016 में पेमरा ने स्थानीय टेलीविजन और एफएम रेडियो चैनलों पर भारतीय सामग्री को प्रसारित करने पर पूर्ण प्रतिबंध लगा दिया था, इस फैसले को काफी हद तक भारत में कुछ चैनलों और मनोरंजन उद्योग द्वारा समान सामग्री और कलाकारों के खिलाफ उठाए गए कदमों के बाद ‘जैसे को तैसा’ कदम के रूप में देखा गया था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here