जानिए, हरमनप्रीत कौर की तुलना पुरुष खिलाड़ियों से क्यों हो रही है?

harmanpreet kaur
harmanpreet kaur

स्पोर्ट्स डेस्क | Navpravah.com

महिला टीम इंडिया की कप्तान हरमनप्रीत कौर ने आईसीसी टी-20 वर्ल्ड कप का आगाज शानदार शतक के साथ किया। हरमनप्रीत कौर के रिकॉर्ड शतक के दम पर प्रोविडेंस स्टेडियम में आईसीसी महिला टी-20 विश्व कप के अपने पहले मुकाबले में न्यूजीलैंड को 34 रनों से शिकस्त दी।

इस मुकाबले में हरमनप्रीत ने महज 51 गेंदों पर 103 रन की तूफानी शतकीय पारी खेली, अपनी इस पारी में उन्होंने सात चौके और आठ छक्के लगाए, वह टी-20 अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट में शतक बनाने वाली पहली भारतीय खिलाड़ी बन गई हैं।

हरमनप्रीत कौर की इस शानदार पारी के दम पर सोशल मीडिया पर उन्हें जमकर बधाइयां मिल रही हैं और जैसा हमेशा होता है, वैसा ही एक बार फिर हो रहा है। सोशल मीडिया पर फैन्स ने हरमनप्रीत कौर की तुलना पुरुष खिलाड़ियों के साथ करनी शुरू कर दी है।

महिला क्रिकेटरों को पुरुष क्रिकेटरों के मुकाबले में कमजोर समझा जाता है, हरमनप्रीत कौर ने भी एक इंटरव्यू के दौरान इस बात का जिक्र किया था। हरमनप्रीत ने बताया था कि उनके पिता के दोस्त मुझे ओवरसीज टूर के लिए बाहर जाते वक्त अक्सर सलाह देते हैं, वह कहते हैं कि तुम बड़े शॉट खेलने के लिए क्यों अपनी ताकत जाया करती हो, जबकि तुम जानती हो कि लड़कियों के लिए गेंद को बाउंड्री पार कराना कितना मुश्किल होता है।

यह पहला मौका नहीं है, जब किसी महिला क्रिकेटर की तुलना पुरुष क्रिकेटर के साथ की जा रही है, पिछले साल महिला वर्ल्ड कप के दौरान वेस्टइंडीज के खिलाफ स्मृति मंधाना ने नाबाद 106 रनों की पारी खेली थी, जिसके बाद स्मृति की क्रिकेट जगत के बड़े-बड़े दिग्गजों ने जमकर तारीफ की थी।

पिछले साल महिला वर्ल्ड कप पर रवाना होने से पहले एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में मिताली राज ने एक पाकिस्तानी पत्रकार के सवाल का करारा जवाब देते हुए बता दिया था कि, महिला खिलाड़ियों का अपना अलग वर्चस्व है और उनकी तुलना पुरुष खिलाड़ियों से न की जाए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here