खुले में शौच करने वालों की खैर नहीं, पंचायत सख़्त

खुले में शौच करने वालों की खैर नहीं, पंचायत सख़्त

शिखा पाण्डेय, केंद्र सरकार द्वारा छेड़ी गये स्वच्छ भारत अभियान में मात्र बड़े बड़े नेता-अभिनेता ही नहीं, आम जनता भी बढ़ चढ़ कर हिस्सा ले रही है। वहीं अब भी...

सपा के 30 विधायक थाम सकते हैं भाजपा का दामन!
गुजरात: सूरत में फटा सिलिंडर, 4 बहनों की जलकर मौत
विश्वस्तर पर जलवा बिखेरने को तैयार है पंजाबी फिल्म ‘सरवन’

शिखा पाण्डेय,

केंद्र सरकार द्वारा छेड़ी गये स्वच्छ भारत अभियान में मात्र बड़े बड़े नेता-अभिनेता ही नहीं, आम जनता भी बढ़ चढ़ कर हिस्सा ले रही है। वहीं अब भी कई ऐसे ज़िद्दी और गंदे लोग भरे पड़े हैं, जो अपनी हरकतों से बाज़ नहीं आ रहे।

ग्रामीण इलाकों में अभी भी लोग खुले में शौच कर रहे हैं। लेकिन दूसरी ओर इस समस्या से निपटने के लिए स्थानीय लोग भी अब अपने स्तर पर अभियान चलाने में जुट गए हैं। इसी के तहत महाराष्ट्र के बुलढाणा जिले की चांडोल पंचायत ने खुले में शौच कर गन्दगी फैलाने वाले लोगों को सबक सिखाने के लिए अप्रतिम तरीका खोज निकाला है।

‘दैनिक भास्कर’ के मुताबिक बुलढाणा जिले की चांडोल ग्राम पंचायत ने फैसला लिया है कि खुले में शौच करने वाले व्यक्ति के साथ सेल्फी लेने वाले को 500 रुपए का इनाम दिया जाएगा। दरअसल इसके पीछे उनकी मंशा है कि खुले में शौच करने वाले की फोटो लेने पर उसे शर्मिंदगी महसूस होगी और वह ऐसा करने से बचेगा। मोदी सरकार के स्वच्छ भारत अभियान के तहत प्रशासन ने स्वच्छता की मुहिम शुरू की थी। इसमें ग्राम पंचायत ने खुले में शौच को लेकर एक प्रस्ताव रखा। पंचायत ने इस पर मुहर लगा दी है। अगले साल अप्रैल से यह फैसला लागू भी हो जाएगा।

गौरतलब है कि पिछले साल भी इस पंचायत ने कुछ इसी तरीके की अनोखी मुहिम चलाई थी। बुलढाणा जिले के चिखली तहसील के 5 गावों की पंचायतों ने एचआईवी को मात देने के लिए बड़ा फैसला लिया था। इस फैसले के तहत शादी से पहले लड़के-लड़की का एचआईवी टेस्ट कराना होगा और जो एचआईवी टेस्ट में पास होगा, उन्हीं की शादी  होगी। शादी करने से पहले लड़के या लड़की को सरकारी स्वास्थ्य केंद्र जाकर अपने खून की एचआईवी जांच करनी होगी और सर्टिफिकेट लेना होगा, इस तरह भावी पीढ़ियाँ एचआईवी मुक्त होंगी।



COMMENTS

WORDPRESS: 0
DISQUS: 0