फ़िल्म समीक्षा : शादी में ज़रूर आना 

कोमल झा । Navpravah.com
रेटिंग– 3 स्टार
कलाकार– राजकुमार राव, कृति खरबंदा, विपिन शर्मा
निर्देशक– रत्ना सिन्हा
निर्माता– विनोद बच्चन, मंजू बच्चन, कलीम खान
साल 2017 में राजकुमार राव की चार फिल्‍में ‘ट्रैप्‍ड’, ‘बहन होगी तेरी’, ‘बरेली की बर्फी’ और ‘न्‍यूटन’ रिलीज हुई हैं। ‘बरेली की बर्फी’ के प्रीतम विद्रोही और हाल ही में रिलीज हुई फिल्‍म ‘न्‍यूटन’ के नूतन कुमार को लोगों ने खूब पसंद किया। राजकुमार राव और अभिनेत्री कृति खरबंदा की फिल्म ‘शादी में जरूर आना’ इस शुक्रवार (10 नवंबर) को रिलीज होने वाली है। इस फिल्म में फैंस, एक्टर के रोमांटिक साइड को देखने के साथ ही उनके डांस मूव्स को देखेंगे। फिल्म की कहानी एक ऐसे लड़के और लड़की है, जिनकी बिना जान-पहचान के शादी हो रही होती है। आइए आपको बताते हैं ​क्या है फिल्म की कहानी और इसे देखने के लिए ​सिनेमाघरों में क्यों जाए?
कहानी-
फिल्म की कहानी शुरू होती है सत्येंद्र मिश्रा उर्फ सत्तु (राजकुमार राव) के घर से, जिसके मामा उसके माता पिता को शादी के लिए एक लड़की की तस्वीर दिखाते हैं। घरवालों को लड़की पसंद आ जाती है। आरती शुक्ला (कृति खरबंदा) की मां उसे लड़के से मिलने के लिए कहती है, लेकिन वह शुरुआत में शादी के लिए नहीं मानती, लेकिन पिता की जिद के कारण वह इस शादी के लिए हामी भर देती है। सत्येंद्र और आरती को अरेंज मैरिज के लिए मिलवाया जाता है। मिलने के बाद दोनों एक-दूसरे को देखते ही दिल दे बैठते हैं। इनके घरवाले इनकी शादी तय करते हैं।लेकिन कहानी में ट्विस्ट तब आता है जब बारात कृति के घर पहुंच जाती है और वो वहां नहीं होती हैं। फिर कुछ सालों बाद दोनों की मुलाकात होती है और हिरो एंग्री यंग मैन में बदल जाता है, जो अपने साथ हुए गलत का बदला लेने के लिए पूरी तरह से तैयार है।
निर्देशन-
रत्ना सिन्हा ने अपने चिर-परिचित अंदाज में फिल्म का डायरेक्शन किया है। शादी का कलरफुल सेट्स देखकर आप भी अंदाजा लगा सकते हैं कि फिल्म में रोमांस के साथ साथ ड्रामा भी होगा। फिल्म में एक मीडियम क्लास फॅमिली कि स्टोरी है। कहीं-कहीं कुछ सीन ऐसे हैं, जिसे देखकर ऐसा लगता है जैसे बेवजह डाला गया है। कहानी की रफ़्तार बहुत धीमी है। इन्हें छोटा किया जा सकता था।
एक्टिंग- 
फिल्म में राजकुमार राव और कृति काफी क्‍यूट नजर आ रहे हैं। दोनों की एक्टिंग भी काफी शानदार लग रही है, लेकिन फिल्म के कई सीन्स ऐसे हैं, जिन्हें शायद ही मध्यम वर्गीय परिवार अपना सके। सिविल सेवा की पृष्ठभूमि पर आधारित इस फिल्म के अधिकतम सीन्स उत्तर प्रदेश के लखनऊ, कानपुर और इलाहाबाद पर फिल्माये गये हैं, जिसमें कुछ खास लोकेशन ही नजर आ रहे हैं, इसके अलावा और भी सीन्स इसमें दिखाए जा सकते थे। बाक़ी के लोगों ने भी अपनी अदाकारी बखूबी निभाई है।
म्यूजिक-
फिल्म का म्यूजिक काफी अच्छा है। इसमें पल्लो लटके गाने का रीमेक भी आपको देखने को मिलेगा। रत्ना सिन्हा ने फिल्म को डायरेक्ट किया है। फिल्म में आपको राजकुमार का एक अलग अंदाज देखने को मिलेगा, जो पहले की फिल्म में नहीं दिखा था।
फिल्म क्यों देखें-
अगर आप राजकुमार राव के फैन हैं, तो यह फिल्म आपको जरूर पसंद आएगी। क्योंकि उनकी पिछली फिल्मों की तरह इस फिल्म में भी आपको उनकी शानदार एक्टिंग के साथ एक नया अवतार नजर आएगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here