अल्केश दिनेश मोदी इंस्टिट्यूट ने “लर्निंग एजीलिटी” कार्यक्रम के ज़रिए युवाओं को दी एक नई दिशा

अल्केश दिनेश मोदी इंस्टिट्यूट ने “लर्निंग एजीलिटी” कार्यक्रम के ज़रिए युवाओं को दी एक नई दिशा

आशीष पाण्डेय, अल्केश दिनेश मोदी इंस्टिट्यूट ऑफ़ फाइनेंशिल स्टडीज, मुंबई विश्वविद्यालय एवं MTHR ग्लोबल के संयुक्त तत्वावधान में गत 5 नवम्बर को “लर...

प्रत्यूषा को बॉयफ्रेंड राहुल देह व्यापार के धंधे में ढकेलना चाहता था!
इंडिया की रियल वंडरवुमेन मिसेज वर्ल्ड केतकी जानी जिसने एलोपेशिया को दी मात
शतक से चूककर भी राहुल ने बनाया रिकार्ड

आशीष पाण्डेय,

अल्केश दिनेश मोदी इंस्टिट्यूट ऑफ़ फाइनेंशिल स्टडीज, मुंबई विश्वविद्यालय एवं MTHR ग्लोबल के संयुक्त तत्वावधान में गत 5 नवम्बर को “लर्निंग एजीलिटी: फ्रॉम एजुकेशन टू लीडरशिप डेवलपमेंट” कार्यक्रम का आयोजन किया गया। इस कार्यक्रम में विभिन्न कॉर्पोरेट प्रोफेशनल्स, मीडिया, सोशल एंटरप्राइज, कला एवं एकेडेमिक क्षेत्र के लोगों ने भाग लिया।

इस कार्यक्रम में शामिल youth4job.com के संस्थापक गोपाल गर्ग ने श्रोताओं को संबोधित करते हुए कहा, “आज हमारे समाज को दिव्यांगों के प्रति अपना नजरिया बदलने की आवश्यकता है, क्योंकि उनके प्रति उपयुक्त देखरेख की कमी और शिक्षा की कमी ही हमारी असमर्थता का कारण है। एजिलिटी के बारे में सीखने का अर्थ है कि अपने आप के एक्स फैक्टर को जानें और उस क्षेत्र में कार्य करें।

इसके बाद कार्यक्रम को एस्सार ग्रुप की चीफ टैलेंट ऑफिसर सुजया बनर्जी ने आगे बढ़ाया। सुजया ने अपने कार्यक्रम में ग्लोबल इकॉनमी की वर्तमान चुनौतियों, डिक्लाइनिंग प्रॉफिटेबिलिटी, लीडरशिप वर्सटिलिटी चैलेंजेस, हाई अटरीशन और सफलता की चुनौतियों पर प्रकाश डाला।

बी रविशंकर ने ‘डिजिटल एचआर में सीखने का महत्व’, इस विषय पर अपने सेशन के दौरान श्रोताओं को बताया कि आज के समय में लर्निंग एजिलिटी का तात्पर्य है, ‘भविष्य के लिए सीखना’, क्योंकि कृत्रिम बुद्धिमत्ता के कारण आने वाले 30 सालों में 50 प्रतिशत मानवों को महत्त्वहीन माना जायेगा। इसलिए किसी भी संस्था के लिए यह आवश्यक है कि वह लीडर्स बनाएं और उन्हें वृहद् प्रसंग में नौकरी दें। उनके सेशन के बाद उल्हास पगे (हेड ह्यूमन कैपिटल एंड ओडी, शेयरखान) व रानी देसाई(डेलोइट) द्वारा पैनल डिस्कशन किया गया।

पैनल मेंबर्स, एमटीएचआर के को-फाउंडर राजेश कामथ व ऑडियंस के बीच हुई बृहत् वार्ता से भविष्य में  नए प्रोफेशनल्स को नौकरी दिए जाने के विषय में काफी महत्त्वपूर्ण मुद्दे सामने आये।

कार्यक्रम के अंत में अल्केश दिनेश मोदी फाइनेंशियल एंड मैनेजमेंट स्टडीज के प्लेसमेंट अफसर कविता मिश्रा व मुम्बई यूनिवर्सिटी द्वारा आभार प्रदर्शन का कार्य संपन्न किया गया व कार्यक्रम को सफल बनाने में मेहनत करने वाले विद्यार्थियों का खास आभार व्यक्त किया गया।

यह कार्यक्रम बैंक ऑफ बरोडा (प्लैटिनम स्पॉन्सर), आंध्रा बैंक, कारपोरेशन बैंक, एलआईसी ऑफ़ इंडिया, स्टॉक होल्डिंग कॉर्पोरेशन ऑफ़ इंडिया लिमिटेड, ग्रीनवुड फर्नलाइन, पनारोमा आदि द्वारा स्पांसर किया गया था। नवप्रवाह.कॉम मीडिया पार्टनर व रेडियो सिटी 91.1 FM कार्यक्रम के रेडियो पार्टनर थे।



COMMENTS

WORDPRESS: 0
DISQUS: 0